Category: Poetry

Poetry

They Disobeyed To Break The Stereotypes #writebravely

Disobeyed

Boys should be strong, they don’t cry. Men need to hide their sentiments, A man should not reveal his emotional front. They said! He disobeyed.   He cried in his mother’s lap when he fell and scratched his knee in school. He cried in front of his best friend when his girlfriend left him. He …

Poetry

चलता जा रहा हूँ… ना जाने कहाँ…

A Realization

चलता जा रहा हूँ… ना जाने कहाँ… क्या अपनी तलाश है मुझे, या किसी का इंतज़ार। नहीं जानता, कहाँ है मेरी मंज़िल, कहाँ है मेरा संसार। चलता चला आया हूँ मैं ये किस गगन में, कोई भी अपना दिखे ना, मुझे अब इस आँगन में। थक गया हूँ। थोड़ा आराम कर लूँ। पर ये आसान …

Poetry

एक ख़्वाब…

a dream

नहीं जानती थी क्या और कौन थे तुम! पर जाना तुम्हे और कुछ कुछ प्यार को! जगा दिए तुमने वो जज़्बात, वो प्यार, जो दबा था मेरे दिल में कहीं! नहीं चाहती थी जिन जज़्बातों को मैं सरहद पे लाना, उन जज़्बातों का शहर बसा दिया तुमने… उन रातों में ना जानें कितनी बात करली …

Poetry

पापा मैं छोटी से बड़ी हो गयी क्यों

Papa mein choti se badi ho gayi kyun

कल ही तो सीखा था आपके आँगन मैं चलना मैंने, अभी कल ही तो सीखा था बोलना मैंने, जब आपजे हांथों मैं छुप जाते थे मेरे छोटे से दोनों हाँथ। आज जा रहीं हूँ एक नए आँगन को सजाने, आज अपने हांथों की मेहँदी से, जा रहीं हूँ एक नए घर को महकाने। आज लगता …